RSS

Likhna Bha Gaya . . . .

It is my personal poem. It gives an insight of my journey of “kalam aur mai”.

Image

 
13 Comments

Posted by on June 16, 2012 in poetry

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

 
Leave a comment

Posted by on July 16, 2019 in poetry

 
Image

शुक्रिया हमदम

शुक्रिया हमदम

शुक्रिया ! ऐ सनम ।
संग रहे कदम कदम।
30 बरस से हमदम।
कसम से कलम तक।

 

Tags: , , , , , , ,

Status

बस कर जमाने ! बस

दर्द बांटने को आतुर … ….

ऐ ज़ालिम जमी ज़माने !

खुशी बांटी होती जो थोड़ी भी

तो कुछ ओर ही आलम होता ।

जमीं ही बन जाती जंहा ऐ जन्नत

खुदा भी थोड़ा बेफिक्र होता

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

विदाई शिक्षा

 

Tags: , , , , , , , , , , , ,

योग कराये रुहानी संयोग

योग कराये रुहानी संयोग

युगों युगों से भी है योग पुराना ।
उमर, मज़हब ,सरहद से अनजाना
मन तन गाते एक ही तराना।
संत ऋषि तो ही योगश्वर कहलाते ।
योग के बल से परमात्म को पाते ।
योग दिवस ! बंधु आओ रोज़- रोज मनाये ।
International Yoga Day भारतीय अध्याय ।
तन को मन से, स्वास्थ्य जैसे धान्य-धन से ।
खुद को खुदा से, मालिक ऐ मन से योग जुड़ाये।

 

Tags: , , , , , , , , ,

कुछ तो टूटा है

ऐ दिल! तू तो बता

कुछ तो टूटा है,

कुछ तो छुटा है,

कंही दरार भी नहीं,

पर नमी तो है ।

कुछ तो टूटा है,

क्योंकि करार भी नहीं।

इंतजार भी नहीं  है ।

 
Leave a comment

Posted by on June 21, 2019 in poetry

 
Image

मेरा भारत महान

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

 
%d bloggers like this: