RSS

Category Archives: मां भारती

Image

Happy birthday Maa

Happy birthday Maa

मेरी दुनिया में इतनी जो शौहरत है
मेरी माँ की बदौलत है,
ऐ ऊपर वाले और क्या देगा तु
मेरे लिये तो मेरी माँ ही मेरी सबसे बड़ी दौलत है
Happy Birthday MOM
वो हस्ती जो बेपन्हा प्यार करे माँ ही तो है
वो जो बच्चो के लिए जिए…
हैप्पी बर्थ डे मॉम 🥰🥰🥰
Mummy words r really less to express my love n respect for you..god bless you n give u good health 🥰🥰mmmwaaaa😘😘😘

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Image

Happy birthday Maa

Happy birthday Maa

मेरी दुनिया में इतनी जो शौहरत है
मेरी माँ की बदौलत है,
ऐ ऊपर वाले और क्या देगा तु
मेरे लिये तो मेरी माँ ही मेरी सबसे बड़ी दौलत है
Happy Birthday MOM
वो हस्ती जो बेपन्हा प्यार करे माँ ही तो है
वो जो बच्चो के लिए जिए…
हैप्पी बर्थ डे मॉम 🥰🥰🥰
Mummy words r really less to express my love n respect for you..god bless you n give u good health 🥰🥰mmmwaaaa😘😘😘

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Happy Mothers Day Maa

Happy  Mothers Day Maa

Happy Happy Mother Day … Maa….
Meri Maa ka Aansh -Vansh barkrar rahe..
Tere dua -dular hum pe beshumar rahe..
Tera diye Hum me sda hi Sanskar rahe..
Happy Mother Day you hi bar bar kahe

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

(बिछड़े) कभी न आन मिले!

बरसी मनाके हम तो भूल जायेंगे।

खोने वाले कभी क्या भूल पायेंगे ?

इम्तिहान ऐ जिंदगी जब आजमायेंगे।

कैसे देश गीत ये, कैसे देश प्रीत ये ?

विरासत -सियासत मे , ये पनपायेंगे ?

टूट टूट जायेंगे, ये घुट घुट जायेंगे।

स्मारक -समाधि पे शायद ये आ जायेंगे।

घुटन व टुटन से कैसे रिहाई ये पायेंगे ?

बिछड़े कभी भी नाही आन मिले ।

तिरंगे में लिपटी जब रिश्ते ऐ जान मिले।

इक बार मातमी धुन, सलामी ऐ शान मिले।

हमदर्दी तमग़ा, कभी कुछ कुछ अनुदान मिले

ताउमर उससे कैसे उनका ख़ानदान चले ???

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , ,

अपनों के तीर

अपनों के तीर

अपने जब दरद देते इन्तेहा
पराये तब ये कहते हंसके हम पे
बेहद नाज करते थे तुम जिन पे


आज वही जुबां खामोश रुह घायल
मन का भिगो गये कोना – कोना ।

अश्क छुपाले और छुपाले रोना

किसको दिखायेगा दरद को ढोना ?

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Image

मेरा भारत महान

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

बस इतना तू याद कर

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

सूरज से नैन मिलाऊं मैं !

सूरज से नैन  मिलाऊं मैं !

 

Tags: , , , , ,

अभिनंदन का अभिनंदन

अभिनंदन का अभिनंदन

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Quote

Josh Versus Jaish

जोश की उड़ी उड़ान ।

जय हिंद !जय जवान!

जोश ! तो अभी बाकी है।

ये तो बस इक झांकी है ।

ऐ तिरंगे ! हम तेरे साकी हैं।

कसमे ऐ वतन खाती खाकी है ।

रुह ऐ जिस्म भारत मां की है ।

जोशे ऐ वतन

 

Tags: , , , , , ,

Video from Rajnivijaysingla on pulwama Martyrs

Video from Rajnivijaysingla on pulwama Martyrs

JAI HIND….. 🙏🏻

 

Tags: , , , , , , , , , ,

Image

कभी याद हमे भी करना # पुलवामा

कभी याद हमे भी करना # पुलवामा

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Vidai shiksha

 

Tags:

बायनाः ढाई अक्षर प्रेम का काफी है

बायनाः ढाई अक्षर प्रेम का काफी है

सास भी कभी बहू ही थी

कल की बहू ,आज सासु रानी

घर घर की है यही कहानी

यह रीत तो सदियों पुरानी

करवा चौथ देखो दोनो मनाती

मेंहदी रचाती, चूड़ी खनकाती

सुहाग के गीत गाती

तारो की घनी छाँव मे

दोनों ने बड़े ही चाव मे

खाई करवे का गरी सरगी

शाम सुनाई सासु ने करवे की कहानी

बायने की थाली सजा के लाई बहूरानी

पाँव छूकर बायना देवे बहूरानी

गले लगाके बड़े आस से

बहू से यह कहा ,सास ने:

( मेरे लाल की तू लालिमा

मेरे चाँद की तू है चांदनी

उसकी मल्लिका, उसकी रानी

बायने मे चाहिए केवल ,बिटिया रानी!

बस ढाई अक्षर प्रेम के ,गृहलक्ष्मी !तू सुहानी !

ढाई अक्षर प्रेम के

ढाई अक्षर प्रेम के

काफी है ,काफी है

जिंदगी प्यार की

मुस्कान व दुलार की

काफी है, काफी है

क्योंकि (प्यार ) होता है जंहा

( मिठास )आ जाती है वंहा

प्यार ही काफी है ,काफी है।

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Image

( mee too ) sunami

http://Jeevan

कभी संत छेडे़ कभी महंत

कभी नेता कभी अभिनेता

न शोहरत का कोई ख्याल

न किये का कोई मलाल

उनसे तो लाख अच्छे

कोठों के वो दलाल

संस्कारो से कोसो दूर

वासना मे जलते पुतले

महिषासुर से बदतर आसुर

नारी तूझको जागना होगा

दरिंदो को सुलाने की खातिर

बन शाश्वत महाकाली चंडी

सरेआम लगा दो फांसी बंदी

नारी तू ही है नारायणी

नारीत़्व को नमन व झंडी

कत्ल कर दो मानसिकता गंदी

 
 
%d bloggers like this: