RSS

Category Archives: corona # lockdown

ऐ कुदरत ! सब खैर कर

ऐ कुदरत  ! सब खैर कर

एे करोना इतना कहर न कर
पसीना बहा जिनका खेतों में
जीवन उनका जहर न कर
देखे फसल संग सपने जो
साकार हो, वो ढेर न कर
माना खता हुई है ,न बैर कर।

सब खैर कर, सब खैर कर

जुर्म ऐ जफा हुआ है न गैर कर।

 

Tags:

बंदे तुझे जगाने को #

ना जाने किसकी बददुआ लगी ?

हंसते गाते हुए जमाने को ।

तड़प रहा है , तड़प रहा है ।

तड़प रहा है तड़प रहा है

पिंजरे से बाहर आने गाने को ।

भूल अपनी भूलवाने  को

ना जाने किसकी बददुआ ?

कुदरत को कहर बन कर आना पड़ा

ऐ बंदे तुझे जगाने को ।

 

दुआ देते चलो।

दुआ देते चलो।

इन्तेहा दुआऐ देते रहो ।
बिना वजह ।।
बिना रिश्ते ।
बिना मतलब।
क्या पता रब ?
किसी का दर्द ऐ गम ,
आप की दुआ की वजह से
मुस्कराहट में बदल डाले ।

 
Image

Corona cage

Corona cage

Kitne pas
Pur
Kitne dur…
Bahut majbur
Kudrat se gustakhi
Ki kur Saza manjoor

 
Leave a comment

Posted by on March 26, 2020 in corona # lockdown

 

Tags: , , , ,

 
%d bloggers like this: