RSS

Category Archives: kids swing

कर लो पापियों कन्या भक्ति

 

Tags: , , , , , , , , , , , , ,

Status

Cry for life

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Image

उफ ! ये मुस्कान तौबा

image

मुस्कान की कोई उमर न होती।
न मजहब, ऱुत न कोई जात ।
मुस्कान बिखेरती मस्त बहारें ।
कशमीर  सी  कंचन कायनात ।
मुस्कान न मांगे कुबेर खजाने ।
मुस्कान के बदले बस मुस्कराहट ।

 

Tags:

Chat

वो बचपन प्यारा

आजकल कपड़े के थेलै में साग सब्जी व कागज के लिफाफे में समोसे – जलेबी पाकर बचपन फिर  से  लौट आया ।
Welcome Ecofriendly !
Polybags free, Jalandhar

 

Tags: , , , , , , , ,

Image

मां ! ममता व कलम सब गज़ब है

image

 

Tags:

Chat

मां की दुआए कबूल कर दे

  दरद के पहाड़ सब पल में ही तू धूल  कर दे ।
चुभने से पहले ही हर शूल को तू फूल कर दे।
बुलंदियो में, हे रब्बा ! बच्चे  तू मशगूल कर दे।
हर तमन्ना ,हर दुआ, हर  मां की कबूल कर दे ।
उनकी मासूम गलतियां भूलने की भूल कर दे ।
मदर डे पे, खुदा खुद को इतना मशहूर कर दे ।

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , ,

Chat

मां की दुआए कबूल कर ले

  दरद के सब पहाड़ पल में ही तू धूल  कर दे ।
चुभने से पहले ही हर शूल को तू फूल कर दे।
बुलंदियो में, हे रब्बा ! बच्चे  तू मशगूल कर दे।
हर तमन्ना ,हर दुआ, हर  मां की कबूल कर दे ।
उनकी मासूम गलतियां भूलने की भूल कर दे ।
मदर डे पे, मां सा ही खुद को मशहूर कर दे ।

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , ,

सूरत बनाम सीरत

सूरत चले जवानी तक सीरत चले बाद भी
मोम सा दिल बना ले याद रखे फौलाद भी

 

Tags: , , , , , ,

मां के क्या कहने, रब्बा !

मा की क्या रीस करेगा तू जमाने।
मां ही तो दे सांसो के खजाने।
दरद करती सब अपने हिस्से।
इतिहास गवाह है, महान है किस्से ।
मां तो बस देना ही देना जाने ।
औलाद की खातिर सह ले ताने ।
दरद में भी रहकर , है दुआए देती ।
औलाद के खंजर ,चुपचाप है सहती।
ममता का मोती ,शीतल सी ज्योति
बालक कलयुगी हो जाये कितने बेशक
मां सदा पावनी सतयुगी गंगा सी बहती

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , ,

मीठा अहसास

मीठा अहसास मीठे अश्क लाता है
हो भीगी पलके ,तब भी मन गाता है
लगे सब अपने, नये सपने जगाता है
जीते जी जन्नते ए नजारा महकाता है
  खूब मुस्काने बांटने को जी चाहता है

 

Tags:

क्या होती खुशनसीबी ?

दरद देखा करीब से शमशान -अस्पताल में
क्या – क्या देखा, बस कहा न जाये
भूख की आग, कहर कितना ?कैसे कैसे ढाये फैले हाथ, बिलखता बचपन, मजबुर जवानी
दुत्कारा बुढ़ापा, छुपा दरद, सिसकते साये
अश्क भी तौबा कर ले, गम इतना सताये
जहुन्नम ऐ नजारा इसी जमीं पे ही दिखाये
हर नेमत के होते जो रब को दे सौ लानते
खुशनसीबी उसकी , चौखट ही छोड़ जाये
मनजीत जगजीते ही खुशनसीब कहलाये
दरद मे करे अरदास,सुख में शुकराना गाये
खुशियां उसको खुद ही आवाज लगाये

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

बेटियां रहमत रब की

बेटियां रहमत रब की
इनको न जहमत माने
ताउमर रहती अपनी
इनको न पराई जाने
पालना के पंख लगाओ
जी जान से इन्हे पढ़ाओ
बहुत चला ली ऐ ; तूने जमाने
कभी कर शोषण ,कभी दे देे ताने
अब तो कर ले ,तू भी तौबा
रब की नेमत को कर नमन !
कलियो से ही खिलता चमन
बेटियां होती दुआओं जैसी
बरकत की सदाओ जैसी
महकती दिशाओं जैसी
बेटियों से सजा लो आशियाना अपना
साकार करो मासूम अंखियों का सपना
सच्ची यही कंजक पूजा, तप ,नाम जपना

Rajni Vijay Singla

 

Tags: , , , , , , , , , , , , ,

चलना जरुरी

चलेगें हम जितना ज्यादा
होगा उतना हमको फायदा
न छूयेगी पायेगी बीमारी हमको
न ही तन की लाचारी हमको
कर लो खुद से पक्का वायदा
अटूट संकल्प, अचल इरादा

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Chat

रुहानी खुराक

दरद देकर दुआ पाने की उम्मीद खुदा भी नही पूरी कर सकता तो  इंसान के हाथ  में कंहा दम है  इसलिए खुशी दो खुशी लो

Rajni Vijay Singla

 

Tags:

Image

मन मयूरा नाचा मेरे अंगना

image

Rajni Vijay Singla

 
 
%d bloggers like this: