RSS

Category Archives: Modi Mania

Chat

#me too as old as woman

#me too as old as woman

#|mee too issue तो है सदियो पुराना
पहले छूपा लेते थे इज्जत बचाने की खातिर
अब न रहा रावण – महिषासुरो का ज़माना
जो बन दिखाती है महाकाली रूपा शक्ति
देता ज़माना उसे नमन् ,सलामी और भक्ति

Advertisements
 

Tags:

Image

( mee too ) sunami

http://Jeevan

कभी संत छेडे़ कभी महंत

कभी नेता कभी अभिनेता

न शोहरत का कोई ख्याल

न किये का कोई मलाल

उनसे तो लाख अच्छे

कोठों के वो दलाल

संस्कारो से कोसो दूर

वासना मे जलते पुतले

महिषासुर से बदतर आसुर

नारी तूझको जागना होगा

दरिंदो को सुलाने की खातिर

बन शाश्वत महाकाली चंडी

सरेआम लगा दो फांसी बंदी

नारी तू ही है नारायणी

नारीत़्व को नमन व झंडी

कत्ल कर दो मानसिकता गंदी

 

मुबारक मुबारक मुबारक

मुबारक !मुबारक! मुबारक!मुबारक ।
भक्त को भगवान का दुलार मुबारक ।
भूखे को रोटी,  अधनंगे को कपड़ा
प्यासे को पानी की धार मुबारक ।
खेतों को बरखा की बहार मुबारक ।
दिल को प्यार का इज़हार मुबारक । 
सरहदों को अमन ऐ एतबार मुबारक ।
राही को मंजिल की पुकार मुबारक ।
योद्धा को धनुष – तलवार मुबारक ।
जंगलो को हरियल सा हार मुबारक ।
मुसाफिर को पेड़ की छांव मुबारक । 
भारत को स्वच्छता का पैगाम मुबारक ।
किसान को अनाज का दाम मुबारक ।
पंछी को अपना दाना-पानी मुबारक ।
बचपन को नानी की कहानी मुबारक ।
मरते को स्वस्थ जिंदगानी मुबारक ।
सुबह के भूले को  है शाम मुबारक ।
आंचल मे बेटी,  हर अंगना में पौधे ,
मां भारती को ऐसी शान मुबारक ।

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Chat

वो बचपन प्यारा

आजकल कपड़े के थेलै में साग सब्जी व कागज के लिफाफे में समोसे – जलेबी पाकर बचपन फिर  से  लौट आया ।
Welcome Ecofriendly !
Polybags free, Jalandhar

 

Tags: , , , , , , , ,

Chat

मां की दुआए कबूल कर दे

  दरद के पहाड़ सब पल में ही तू धूल  कर दे ।
चुभने से पहले ही हर शूल को तू फूल कर दे।
बुलंदियो में, हे रब्बा ! बच्चे  तू मशगूल कर दे।
हर तमन्ना ,हर दुआ, हर  मां की कबूल कर दे ।
उनकी मासूम गलतियां भूलने की भूल कर दे ।
मदर डे पे, खुदा खुद को इतना मशहूर कर दे ।

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , ,

Chat

मां की दुआए कबूल कर ले

  दरद के सब पहाड़ पल में ही तू धूल  कर दे ।
चुभने से पहले ही हर शूल को तू फूल कर दे।
बुलंदियो में, हे रब्बा ! बच्चे  तू मशगूल कर दे।
हर तमन्ना ,हर दुआ, हर  मां की कबूल कर दे ।
उनकी मासूम गलतियां भूलने की भूल कर दे ।
मदर डे पे, मां सा ही खुद को मशहूर कर दे ।

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , ,

मां तो इक दुआ है ।

मां का दिल होता मोम सा ।
आंचल होता आसमान सा ।
सूरत होती इक फरिश्ते सी ।
मुकाम बिल्कुल भगवान सा ।

 

Tags: , ,

 
%d bloggers like this: