RSS

Category Archives: Shero Shayari

Image

Happy birthday Maa

Happy birthday Maa

मेरी दुनिया में इतनी जो शौहरत है
मेरी माँ की बदौलत है,
ऐ ऊपर वाले और क्या देगा तु
मेरे लिये तो मेरी माँ ही मेरी सबसे बड़ी दौलत है
Happy Birthday MOM
वो हस्ती जो बेपन्हा प्यार करे माँ ही तो है
वो जो बच्चो के लिए जिए…
हैप्पी बर्थ डे मॉम 🥰🥰🥰
Mummy words r really less to express my love n respect for you..god bless you n give u good health 🥰🥰mmmwaaaa😘😘😘

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Image

Happy birthday Maa

Happy birthday Maa

मेरी दुनिया में इतनी जो शौहरत है
मेरी माँ की बदौलत है,
ऐ ऊपर वाले और क्या देगा तु
मेरे लिये तो मेरी माँ ही मेरी सबसे बड़ी दौलत है
Happy Birthday MOM
वो हस्ती जो बेपन्हा प्यार करे माँ ही तो है
वो जो बच्चो के लिए जिए…
हैप्पी बर्थ डे मॉम 🥰🥰🥰
Mummy words r really less to express my love n respect for you..god bless you n give u good health 🥰🥰mmmwaaaa😘😘😘

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Valentine versus Vulgarity

Valentine versus Vulgarity
 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

नये बरस पे गीत सुफियाने

नये बरस पे गीत सुफियाने

पुराने फसाने..
क्या दोहराने ?
नये गीत मीठे तराने
पिया का जिया
हम लगे बहलाने

अपना सब कुछ लगे लुटाने

पुराने फसाने..क्या दोहराने ?
नये गीत, मीठे – मीठे तराने
पिया का जिया हम लगे बहलाने

पुराने फसाने..क्या दोहराने ?
नये गीत मीठे मीठे तराने
गाये आ इश्के ऐ सूफियाने

इश्क़ न जाने दुनियादारी

नाही जाने दारु दगा बहाने

रुह तो बस रूहानियत जाने

जहान जिस्म से रहे बेगाने

इश्क़ तो बस इश्क़ पहचाने ।

मैं से तू तू तू तू हो जाने

 
 

Kudrat bhi to mazhab hai..

Ram mandir banega

Par kya likhu, kyu likhu?

Konsa koi likha hua maanta hai

Dharam ka masla to aaj hal ho gya

Par jal ka masala , kaise hal hoga?

Jo haalat hai aaj jal ki,

uske bina kaise kal hoga?

Kaash jitna fikar mazhab ka hai,

utna fikar kudrat ka bhi hota

Kudrat to bhagwaan ka jeeta jaagta roop hai

Bhagwaan ko to humne dekha bhi nhi!!
Uski  fikar !Uska zikar
uski kudrat ki  fikar  kaun karega Janab ?

 

Tags: , , , ,

Image

शुक्रिया हमदम

शुक्रिया हमदम

शुक्रिया ! ऐ सनम ।
संग रहे कदम कदम।
30 बरस से हमदम।
कसम से कलम तक।

 

Tags: , , , , , , ,

Status

बस कर जमाने ! बस

दर्द बांटने को आतुर … ….

ऐ ज़ालिम जमी ज़माने !

खुशी बांटी होती जो थोड़ी भी

तो कुछ ओर ही आलम होता ।

जमीं ही बन जाती जंहा ऐ जन्नत

खुदा भी थोड़ा बेफिक्र होता

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Image

रंगे ऐ दुआऐ बेहद गहरा

रंगे ऐ दुआऐ बेहद गहरा

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Quote
A thought forever

I always did, I do, I will Bless for All.

Gives surity of purity beyond wall.

Reaches easily into Humanity Hall.

Meetingss with God in single call.

A thought forever

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

अभिनंदन का अभिनंदन

अभिनंदन का अभिनंदन

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Quote

Josh Versus Jaish

जोश की उड़ी उड़ान ।

जय हिंद !जय जवान!

जोश ! तो अभी बाकी है।

ये तो बस इक झांकी है ।

ऐ तिरंगे ! हम तेरे साकी हैं।

कसमे ऐ वतन खाती खाकी है ।

रुह ऐ जिस्म भारत मां की है ।

जोशे ऐ वतन

 

Tags: , , , , , ,

तलाश में

तलाश में

 
Image

उफ ! ये मुस्कान तौबा

image

मुस्कान की कोई उमर न होती।
न मजहब, ऱुत न कोई जात ।
मुस्कान बिखेरती मस्त बहारें ।
कशमीर  सी  कंचन कायनात ।
मुस्कान न मांगे कुबेर खजाने ।
मुस्कान के बदले बस मुस्कराहट ।

 

Tags:

मुबारक मुबारक मुबारक

मुबारक !मुबारक! मुबारक!मुबारक ।
भक्त को भगवान का दुलार मुबारक ।
भूखे को रोटी,  अधनंगे को कपड़ा
प्यासे को पानी की धार मुबारक ।
खेतों को बरखा की बहार मुबारक ।
दिल को प्यार का इज़हार मुबारक । 
सरहदों को अमन ऐ एतबार मुबारक ।
राही को मंजिल की पुकार मुबारक ।
योद्धा को धनुष – तलवार मुबारक ।
जंगलो को हरियल सा हार मुबारक ।
मुसाफिर को पेड़ की छांव मुबारक । 
भारत को स्वच्छता का पैगाम मुबारक ।
किसान को अनाज का दाम मुबारक ।
पंछी को अपना दाना-पानी मुबारक ।
बचपन को नानी की कहानी मुबारक ।
मरते को स्वस्थ जिंदगानी मुबारक ।
सुबह के भूले को  है शाम मुबारक ।
आंचल मे बेटी,  हर अंगना में पौधे ,
मां भारती को ऐसी शान मुबारक ।

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Chat

दरद देखा नही जाता

किसी की बदनसीबी पे ।
कमी, मजबूरी व गरीबी पे।
कभी देख के बेरोजगारी।
कभी भूख,कभी बीमारी।
कभी मौत ,  कंही सौत
तिल-तिल जीने की लाचारी ।
देख रुक जाते हैं कदम।
रोती अखियां ,हा़ए! इतने गम ।
मेरी मान, जग गमे आजाद कर।
खुशियो की तू इतनी बरसात कर ।
भीग जाये  खुदा! तेरी  खुदाई ।
मिट जाये गम,  अश्क व जुदाई

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , ,

 
%d bloggers like this: