RSS

Category Archives: Wedding notes

Image

शुक्रिया हमदम

शुक्रिया हमदम

शुक्रिया ! ऐ सनम ।
संग रहे कदम कदम।
30 बरस से हमदम।
कसम से कलम तक।

 

Tags: , , , , , , ,

कर लो पापियों कन्या भक्ति

 

Tags: , , , , , , , , , , , , ,

Vidai shiksha

 

Tags:

बायनाः ढाई अक्षर प्रेम का काफी है

बायनाः ढाई अक्षर प्रेम का काफी है

सास भी कभी बहू ही थी

कल की बहू ,आज सासु रानी

घर घर की है यही कहानी

यह रीत तो सदियों पुरानी

करवा चौथ देखो दोनो मनाती

मेंहदी रचाती, चूड़ी खनकाती

सुहाग के गीत गाती

तारो की घनी छाँव मे

दोनों ने बड़े ही चाव मे

खाई करवे का गरी सरगी

शाम सुनाई सासु ने करवे की कहानी

बायने की थाली सजा के लाई बहूरानी

पाँव छूकर बायना देवे बहूरानी

गले लगाके बड़े आस से

बहू से यह कहा ,सास ने:

( मेरे लाल की तू लालिमा

मेरे चाँद की तू है चांदनी

उसकी मल्लिका, उसकी रानी

बायने मे चाहिए केवल ,बिटिया रानी!

बस ढाई अक्षर प्रेम के ,गृहलक्ष्मी !तू सुहानी !

ढाई अक्षर प्रेम के

ढाई अक्षर प्रेम के

काफी है ,काफी है

जिंदगी प्यार की

मुस्कान व दुलार की

काफी है, काफी है

क्योंकि (प्यार ) होता है जंहा

( मिठास )आ जाती है वंहा

प्यार ही काफी है ,काफी है।

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Chat

भाभी मां मानो तो

मायके की तो बात निराली।
बेटियां होताी हैैं खुशहाली।
लेते ही सर सुहाग चुनरिया।
पराई हो जाती बाबुल अटरिया।
माना मायका मां संग भाता।
भाई-  भाभी भी मीठा नाता।
आदर देने से अटूट बन जाता।
पर मां बाप ताउमर न रहते।
भाई – भाभी ही तब साथ देते।
बेटियां रानी अपने राजा की।
भाभी मायके का नूर होती ।
भाई की वो हूर – गरुर होती।
पहल कर दो सदाये – दुआए ।
जरुरत बाद में  है जरुर होती।
जरुरत पड़े पर जो ननद बोले।
कड़वाहट रिश्तों में वो घोले।
मतलबी  फितरत की उमर छोटी ।
प्यार  उड़ा दे  वो हौले – हौले।
शुरु से रिश्ता  को मधुर बनाये ।
  दुआए देकर  ही  आती दुआए ।

 

Tags: , , , , , , , , , ,

Chat

सूरत पे सीरत भारी

सूरत होती क्या ? जमाना जिसपे फिदा
चार दिन की चांदनी ,चार दिन की  माया
दीवानी  है दुनिया , सब को है भरमाया
सीरत को भूला जग , सूरत पे है ललचाया
न थी सूरत वैसी ,जमाना दे दाद, उस जैसी
अकसर मिलने लगे खंजर से ताने
सूरत बदलना न था हाथ में अपने
दिखा दिये रुह को सीरत के सपने
सीरत का सपना ही कर लिया साकार
मिल रहा उसी रोज से ऐ ! जमाने तेरा प्यार
तभी तो कहता है अपुन का दिल बारम्बार
सूरत न बस में तो सीरत ही बदल लो यार

 

Tags: , , , , , , , , , , ,

Image

अाईना भी दे दाद कला की

आईना कभी भी झूठ न बोले
दे दुआए ,कला को हौले -हौले
कत्थक देख मोरा मनवा डोले
कला रुह के बंद कपाट खोले

image

 

Tags: , , , , ,

मीठा अहसास

मीठा अहसास मीठे अश्क लाता है
हो भीगी पलके ,तब भी मन गाता है
लगे सब अपने, नये सपने जगाता है
जीते जी जन्नते ए नजारा महकाता है
  खूब मुस्काने बांटने को जी चाहता है

 

Tags:

क्या होती खुशनसीबी ?

दरद देखा करीब से शमशान -अस्पताल में
क्या – क्या देखा, बस कहा न जाये
भूख की आग, कहर कितना ?कैसे कैसे ढाये फैले हाथ, बिलखता बचपन, मजबुर जवानी
दुत्कारा बुढ़ापा, छुपा दरद, सिसकते साये
अश्क भी तौबा कर ले, गम इतना सताये
जहुन्नम ऐ नजारा इसी जमीं पे ही दिखाये
हर नेमत के होते जो रब को दे सौ लानते
खुशनसीबी उसकी , चौखट ही छोड़ जाये
मनजीत जगजीते ही खुशनसीब कहलाये
दरद मे करे अरदास,सुख में शुकराना गाये
खुशियां उसको खुद ही आवाज लगाये

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

काश ! Partusha( Anandi) Sister Shivani से मिल लेती

जिंदगी का बस एक पहलू देखा
तभी तोड़ डाली खुद जीवन रेखा
Reel life की बहादुर वधु अानंदी
विदाई बेला से पहले ही विदा हो गई
आत्मबल के गीत गुणगनाने वाली
हाय ! कैसे अात्महत्या पे फिदा हो गई ?
किसी से तो कहती , अपनी मन की बात
शायद रोक लेता ,जगाकर जीवन जज़बात
बेवफाई मायने जिंदगी का अंत नही होता
हर रिश्ता -साथी , फरिश्ता या संत नही होता
काश ! Bk Sister Shivani से मिल लेती
मुरझा गई जो कली ,रुहे आनंद मे खिल लेती
झटक कमजोर पल ,रुहे कसक को छल देती
भूलके अतीत काला, खुद को उजला कल देती
Real life को भी Reel life सा ही हल देती

 

Tags: , , , , , , , , , , , , ,

Image

सुन समधन सुन समधन की धुन

image

Rajni Vijay Singla

 
Image

भारतीय कला कमाल है

<a href="https://hindipoetryworld.files.wordpress.com/2015/11/

मन में घर करती कलाये
शिंगार कीआवाज ये अदाये
सरहदे भी करती सिजदा
कला की न होती सीमाऐ
मजहब से न कोई वास्ता
खुद ढूंढ लेती अपना रास्ता
मै दीवानी खुद कला की
जिसने नवाजी कलाकारी हमको
करु इबादत उस नूरेअल्लाह की

Rajni Vijay Singla

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

ऐ चांद ! दे दुआ

ऐ चांद करना रोशन
सदा सब सुहाग तू
हमेशा यूं ही दीदार करे
हर बरस इंतजार करे
सुहाना रहे हसीन सफर
सुहागिनो पे रहे तेरी नजर
करवे का हो यही असर
शिंगार  का चाव रहे
चांदनी की दे चमक
चुड़ियो की दे खनक
मेंहदी  की दुआए दे
खुशियो की सदाये दे

Rajni Vijay Singla

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , ,

True Smile:True Blessing

Every smile brings true happiness , bliss & blossom so must be innocent like kids ; unconditional ; lust free; not fake ; from the soul …

 

Tags: , , ,

सूफी की परिभाषा

सूफी गीत मायने जब  नयन बरसे
तू ही तू बस तेरे  ही चरचे
आवाज बजाये इश्क का साज
आशिकी पे हो बेहद नाज
सूफी रीत माने जब रुह हरषे
परमात्म परीत को आत्म तरसे
पावन हो जाये पाप के डर से
खुदा सखा अपना ,अनमोल सकून
रब की  आरजू ,अरमाने जूनून

Rajni Vijay Singla

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

 
%d bloggers like this: