RSS

Tag Archives: खुदाई

नमन! कुदरत नमन!

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

रब को बना ले मितवा

रब से बड़ा  कोई मीत नही
अरदास से बेहतर गीत नही
याद तो करके देख जरा
कर देगा तुझे हरा भरा
खुदाई से उसकी प्यार कर
दिल से जरा फरियाद कर
हर रुह में  वही तो बसता है
इंसानियत हंसे तो संग हंसता है
शुभ करमन सच्ची इबादत है
बुराई का संग,खुदाये- बगावत है

Rajni Vijay Singla

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , ,

 
%d bloggers like this: