RSS

Tag Archives: जंग

कमी की कीमत

दाने की कीमत  भूखा  ही जाने ।
प्यास की कदर, प्यासा पहचाने ।
प्यार   के क्या मोल है होता ?
दरद सहा हो , सहे हो जिसने ताने
राजसी लोग फुटपाथ से अनजाने
भरे-पूरे  क्या त्याग -रहम को  माने
वैभव तले रौंदे रोज गरीब के दाने

Advertisements
 

Tags: , , , , , , , , , , , , ,

दरद से निजात

खुदा ही केवल दरद से निजात दे सकता है
दुआए ,दरद को काफी हद कम कर सकती है
खुदा की बंदगी,, बंदे को हौंसले दे सकती है खुदा के इंसाफ में बस विश्वास बनाये रखे
दरद रफ्ता-रफ्ता रफूचक्कर हो ही जायेगा
खुदा के बेहद करीब ले जायेगा तोहे बंदे
खुद ब खुद छुट जायेगे माड़े सब धंधे

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

कभी सोचा

दरद अपने का दोष दूजो को  क्यों देना
करम का  न्याय बड़ा , पड़ेगा ही सहना
जिस हाल  मे  रखे पड़ता  ही  है रहना
बांटा जो हमने दरद तो पड़ेगा ही लेना
हमसे आगे चले पाप हमारे
पीछे पीछे ही  फल  की सेना
करम गति जब तक न  घूमे
पाती न पल भर को चैना

 

Tags: , , , , , , , , , , , , ,

 
%d bloggers like this: