RSS

Archives

Quote
A thought forever

I always did, I do, I will Bless for All.

Gives surity of purity beyond wall.

Reaches easily into Humanity Hall.

Meetingss with God in single call.

A thought forever

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Quote

Josh Versus Jaish

जोश की उड़ी उड़ान ।

जय हिंद !जय जवान!

जोश ! तो अभी बाकी है।

ये तो बस इक झांकी है ।

ऐ तिरंगे ! हम तेरे साकी हैं।

कसमे ऐ वतन खाती खाकी है ।

रुह ऐ जिस्म भारत मां की है ।

जोशे ऐ वतन

 

Tags: , , , , , ,

Quote

via Watch “zarurat kiskiii” on YouTube

Watch “zarurat kiskiii” on YouTube

 
Leave a comment

Posted by on November 27, 2018 in poetry

 
Quote

जब तन में तकलीफ ,मन में डर समाने लगे ।
वास्तु- ज्योतिष ,दबे पांव घर मेरे में आने लगे ।
देख के टेवा उपाय कई तरह के समझाने लगे ।
दिशाहीन ? दिशाओं के मायने  समझाने लगे ।
हम भी झांसे में  रज्ज- रज्ज के आने लगे  ।
रब मान बैठे उन्हें , रब को हम भूलाने लगे ।
हिसाब से उनके ही खुद को चलाने लगे ।
नाही तन न मन मिला,बहाने वो बनाने लगे।
पैसा फूंक के भी जब हाथ न आया कुछ ।
रब से ऊंचे माने बैठे जिन्हे लगने लगे तुच्छ ।
न सुख में शुकराना दरद वेले अरदास कीती ।तांही रब ने बन पारखी, सच्चाई समझा दीती ।
परमात्म परमज्योतिष !गल्ल पल्ले पा दीती  ।

परमात्म ही परम ज्योतिष

 

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Quote

भारतीय संस्कृति की रुह कला है ।
विभिन्नताओ का खूब रंग चढ़ा है ।
नृत्य से मिलती है खुराक रुहानी ।
हर विधा है बेहद सभ्य – सुहानी।
कत्थक पे थिरक रही गिद्दे की रानी ।
अनेकता में एकता कला की मेहरबानी ।

image

हर कला की अपनी अदा

 

Tags:

Quote

प्यार के रंग से रंग दे मोहे
गुलाल अबीर है कच्चे
मीत का उतरे रंग  कभी न
न ही छुटे संग कभी न
रंगरसिया  पिया  मोरे सच्चे
साथ तेरा तो रंगीन जिदंगी
करे होली मेरी हर पल बंदगी

Posted from WordPress for Android

मोहे रंग दे

 

Tags:

Quote

न  इतने कर जुल्म
मेरा सबऱ टूट जाये
नाराज हो जाये खुदा
कुफऱ टूट जाये
खाने के पड़े लाले
कंही बसर छुट जाये
उड़ जाये नींद
अपने ऱूठ जाये

Posted from WordPress for Android

जरा संभल के जनाब

 

Tags:

 
%d bloggers like this: